अलीगढ़: रसोई में मिली गंदगी पर भड़के मण्डलायुक्त

0
735

 

मण्डलायुक्त के साथ डीआईजी ने भी किया गभाना आश्रय स्थल का निरीक्षण

नगर निगम द्वारा संचालित दो कम्यूनिटी किचन की व्यवस्थाओं को भी परखा

अम्बेडकर भवन कम्युनिटी किचिन में मिला गंदगी का साम्राज्य, व्यवस्थाओं को सुधारने के निर्देश, कहा धन की कोई कमी नहीं,

कम्युनिटी किचिन में सिर्फ प्रातःकाल ही खाना पकाया जाना पाया गया, दोनों पहर खाना पकाने के निर्देश

आश्रय स्थलों में मनोरंजन के साधन सहित लिक्विड सोप का प्रयोग करने के निर्देश

राजीव शर्मा। 

अलीगढ़ मण्डलायुक्त जी0 एस0 प्रियदर्शी एवं डीआईजी प्रीतेंदर सिंह ने कोविड-19 वायरस के संक्रमण के बचाव के चलते जनपद अलीगढ़ में गभाना तहसील के काशीराम राजकीय महाविद्यालय में बनाये गये आश्रय स्थल एवं नगर निगम द्वारा संचालित दो कम्युनिटी किचिन अम्बेडकर भवन दुबे का पडाव एवं डोरीनगर का निरीक्षण किया। मण्डलायुक्त ने अम्बेडकर भवन कम्युनिटी किचिन में बनाये गये खाने की गुणवत्ता को परखते हुये तैयार भोजन के पैकेट पर असंतोष प्रकट करते हुये कहा कि पैकेट में भोजन की मात्रा को बढ़ाया जाने के साथ अचार अवश्य दिया जाये। उन्होंने कहा कि पात्रों एवं जरूरतमंदों हर हाल में खाना मुहैया कराया जाये, इस आपदा के समय शासन के पास धन की कोई कमी नहीं है। नगर निगम को निर्देशित किया कि वह धन अभाव में तहसील में राजस्व विभाग द्वारा उपलब्ध कराये गये बजट का सुदपयोग कर व्यवस्थाओें में सुधार करें। अम्बेडकर भवन दुबे का पडाव पर संचालित कम्यूनिटी किचिन में सफाई व्यवस्था दुरूस्त नहीं पाई जाने पर रोष प्रकट करते हुये व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश दिये। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि संक्रमण से बचने के लिये अत्यंत आवश्यक है कि खाना साफ, शुद्व और गुणवत्तायुक्त होना चाहिये।
मण्डलायुक्त को अम्बेडकर भवन कम्यूनिटी किचिन में मास्क, सेनीटइजर तो मिले परन्तु रसोई मंे गन्दगी का साम्राज्य पाये जाने पर कडी नाराजगी भी प्रकट कर व्यवस्थाओं को सुधारने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खाना बनाने वालों को चाहिये कि वह साफ-सफाई के साथ ही सामाजिक दूरी का भी पालन करें। मण्डलायुक्त ने निरीक्षण में पाया कि अम्बेडकर भवन कम्यूनिटी किचिन एवं डोरीनगर कम्यूनिटी किचिन में शाम का खाना नहीं पकाया जा रहा है। मण्डलायुक्त ने दोनों पहर खाना पकाये जाने एवं आवश्यकतानुसार खाना के पैकेट बढाये जाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खाना वितरण में प्लास्टिक की थैली का प्रयोग कतई न किया जाये। मण्डल में व्यक्ति भूखा जागे जरूर, परन्तु भूखा सोने न पाये, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये।
मण्डलायुक्त ने मण्डलवासियों से अपील किया कि वह सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखें और अपने घरों में रहते हुये साफ-सफाई को व्यवहार में लायें। दिन में प्रतिदिन कम से कम पाॅच बार साबुन से हाथ अवश्य धोयें और अनावश्यक बिना किसी अनिवार्य कार्य के घरों से बाहर न निकलें। सामाजिक दूरी और सेनेटाइजेशन से ही हम कोरोना पर विजय प्राप्त कर सकते हैं। मण्डलायुक्त ने अपने निरीक्षण के माध्यम से अपील करते हुये कहा कि कोविड-19 के प्रति गंम्भीर हो जाइये और कम से कम अपने लिये नहीं तो अपनो बच्चों की सुरक्षा और भवष्यि की खातिर घरों से बाहर न निकलें, यदि अनिवार्य है तो सोशल डिस्टेंसिंग का शतप्रतिशत अनुपालन करें।
आश्रय स्थल निरीक्षण: मण्डलायुक्त जी.एस.प्रियदर्शी एवं डीआईजी प्रीतेन्दर सिंह ने अन्य प्रान्तों से आने वाले व्यक्तियों को ठहराने हेतु जनपद अलीगढ़ के गभाना में काशीराम राजकीय महाविद्यालय में बनाये गये आश्रय स्थल का निरीक्षण करते हुये उपलब्ध व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मण्डलायुक्त ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार अन्य प्रान्तों में कार्य कर रहे व्यक्तियों को उनके अपने गृह जनपदों में भेजा जा रहा है, ऐसे में व्यक्ति को 14 दिन आश्रय स्थलों में रखा जा रहा है ताकि यदि उन्हें किसी प्रकार की कोई बीमारी या संक्रमण है तो वह संक्रमण अन्य किसी व्यक्ति में न फैलने पाये। उन्होंने बताया कि अन्य प्रान्तों से आये लोगों को 14 दिन क्वारंटाइन अवधि पूर्ण होने के उपराॅत उन्हें उनके घर भेजा जायेगा। मण्डलायुक्त ने अपने निरीक्षण में पाया कि महाविद्यालय में बनाये गये आश्रय स्थल में 134 महिला पुरूष ठहरे हुये हैं। आश्रय स्थल की क्षमता 300 व्यक्तियों की है। इस दौरान उन्होंने लोगों से बातचीत कर उनके हालचाल एवं समस्यओं को भी जाना। एक महिला ने अपने बच्चे के लिये दूध की मांग की, जिस पर एसडीएम गभाना को निर्देशित किया गया कि बच्चे के लिये प्रतिदिन दूध उपलब्ध कराया जाये। आश्रय स्थल में लगे सीलिंग फैन जो खराब हैं उनकी मरम्मत कराते हुये लगवाये जायें और प्रकाश, हवा और पानी की समुचित व्यवस्था हो, बिजली के लिये जनरेटर स्थापित किया जाये एवं मनोरंजन के साधन जुटाते हुये टीवी और पब्लिक एड्रस सिस्टम भी लगाया जाये। आश्रय स्थल में साफ-सफाई पर्याप्त थी, महिला और पुरूष अलग-अलग कमरों एवं तल पर ठहराये गये थे। मण्डलायुक्त ने चिकित्सकों को प्रतिदिन चिकित्सकीय परीक्षण करने के भी निर्देश दिये। एसडीएम गभाना ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर सभी को हाथ धुलने के लिये साबुन उपलब्ध कराया गया है, जिस पर मण्डलायुक्त ने सभी को लिक्विड सोप प्रदान किये जाने के निर्देश दिये।
इस दौरान अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व विधान जयसवाल, एसडीएम गभाना अनीता यादव, मुख्य अभियंता नगर निगम एवं तहसीलदार सदर मौजूद रहे।

 

राशन वितरण 1 मई से 12 मई के मध्य
हाटस्पाॅट क्षेत्रों में होम डिलीवरी के माध्यम से होगा राशन वितरण

सभी कार्डधारक एवं राशन वितरण सोशल डिस्टंेसिंग एवं सेनेटाज़िंग का रखें ध्यान

जिला मजिस्टेªट ने बताया है कि कोविड़-19 वायरस के दृष्टिगत नगर निगम के उस्मानपाडा क्षेत्र में कतिपय व्यक्तियों के संक्रमित हो जाने के कारण उस्मानपाड़ा क्षेत्र को हाटस्पाट क्षेत्र घोषित किया जा चुका है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत उचित दर विक्रेताओं द्वारा कार्डधारकों में आवश्यक वस्तुओं का वितरण 1 मई से किया जाना है। ऐसे में जनहित की सुरक्षा के दृष्टिगत नगर निगम के उस्मानपाडा क्षेत्र के उचित दर विक्रेताओं को निर्देशित किया गया है कि वह कार्डधारकों को होम डिलीवरी के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुये राशन प्राप्त करायेंगे, इसके साथ ही राशन प्राप्त करने वाले व्यक्ति का हाथ व ई-पाश मशीन को अच्छी तरह से सेनेटाइज़ कराया जाये। कोविड-19 वायरस के संक्रमण से बचने के लिये सेनेटाइज़ेशन एवं हाथ धोने की प्रक्रिया प्रत्येक कार्डधारक द्वारा राशन प्राप्त करने के पूर्व एवं उपराॅन्त आवश्यक रूप से की जाये। डीएम ने समस्त कार्डधारकों से अपील करते हुये कहा है कि वह राशन प्राप्त करने से पूर्व एवं बाद में अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोयें और राशन प्राप्त करते समय समाजिक दूरी को भी बनाये रखें। राशन वितरण का कार्य 01 मई से 12 मई के मध्य किया जाना है ऐसे में कार्डधारक अनावश्यक भीड़ न लगायें, सभी कार्डधारकों को खाद्यान्ह उपलब्ध कराया जायेगा।
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 01 मई से खाद्यान्ह का वितरण कराया जाना है। कोविड-19 वायरस संक्रमण से बचाव के लिये सोशल डिस्टेंसिंग एवं स्वच्छता का होना अत्यंत आवश्यक है। ऐसे में उस्मान पाडा क्षेत्र के सभी राशन डीलर हरिप्रसाद माहौर, मो0 मुबीन, मोहम्मद शाहिद, मुश्यैदा बेगम, नसरूददीन, प्रभा गुप्ता, रफत हुसैन, रघुवीर सिंह, रामेश्वर दयाल, राशिदा बेगम, रविन्द्र कुमार, रहमत बेगम, शफीक अन्सारी, शहजाद, सोनकुमारी और यासीन पेंटर को निर्देशित किया गया है कि वह एक व्यक्ति को राशन वितरित करने से पहले उसके हाथ साबुन से अच्छी तरह धुलवा लें और राशन लेने के उपराॅत ई-पाॅश मशीन को भी सेनेटाइज़्ड अवश्य किया जाये।
डीएम ने जनपद के अन्य क्षेत्रों के उचित दर विक्रेताओं को निर्देशित किया गया है कि वह अपनी दुकान से सम्बद्व कार्डधारकों के सापेक्ष 10 प्रतिशत कार्डधारकों को प्रतिदिन के हिसाब से वितरण करेंगे एवं ऐसे कार्डधारक जिनकी उम्र 50 वर्ष से अधिक है, कार्डधारक के परिवार में कोई सदस्य बीमार है व निःशक्तजन कार्डधारकों को होम डिलीवरी के माध्यम से राशन प्राप्त करायेंगे। इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित करेंगे कि वह कार्डधारकों में टोकन का वितरण 10 प्रतिशत कार्डधारकों को प्रातः 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक के हिसाब से विभाजित करेंगे, जिससे उचित दर की दुकान पर कार्डधारकों की भीड़ एकत्रित न हो पायें और कार्डधारक उचित दूरी बनाते हुये राशन प्राप्त कर सकेंगे और कोविड-19 के बचाव से सम्भव हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here