एएमयू:लॉक डाउन में इंटरनेट से पढ़ाई जरूरी

0
721
अलीगढ़ । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अजमल खाॅ तिब्बिया कालिज के अमराज-ए-जिल्द व जोहराविया विभाग के तत्वावधान में “यूनानी मेडीसिन में टेलीडर्माटोलोजी तथा कोविड-19 से लड़ने में में होने वाली कठिनाईयां“ विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने वेबिनार के सहभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों तथा देशव्यापी तालाबंदी के दृष्टिगत शिक्षकों को चाहिए कि वह इंटरनेट का प्रयोग करते हुए शिक्षण एवं अध्ययन के आधुनिक संसाधनों का उपयोग करे तथा तालाबंदी के कारण छात्रों को होने वाले पढ़ाई के नुकसान को पूरा करने में उनकी सहायता करें। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने इस दिशा में कई महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं जिनमें इंटरनेट पर उपलब्ध शिक्षण एवं परीक्षा के आन लाइन तरीकों का प्रयोग शामिल है।

प्रोफेसर मंसूर ने कहा कि विश्वविद्यालय के युवा शिक्षकों को चाहिए कि वह वरिष्ठ शिक्षकों को शिक्षण एवं परीक्षा के आधुनिक तरीकों के प्रयोग की विधि समझने में उनकी सहायता करें।
सी0सी0आर0यू0एम0 के डायरेक्टर जनरल तथा आयुष मंत्रालय के अंतर्गत सी0सी0आई0एम0 के बोर्ड आॅफ गर्वनरस के सदस्य प्रोफेसर आसिम अली खान ने आयुष मंत्रालय की ओर से कोविड-19 के संदर्भ में उठाये गये कदमों तथा मरीजों के इलाज, शोध एवं ई-लर्निंग से संबंधित निर्देशों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कोरोना वायरस से संबंधित आयुष मंत्रालय के रिसर्च प्रोजेक्ट्स के बारे में भी जानकारी प्रदान की।

उत्तर प्रदेश सरकार की यूनानी सेवा के निदेशक प्रोफेसर सिकंदर एस0 सिद्दीकी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए आयुष मंत्रालय की ओर से किये जा रहे उपायों के बारे में जानकारी प्रदान की तथा उन चिकित्सकों तथा स्वास्थकर्मियों को भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित की जिन्होंने कोरोना संक्रमण के मरीजों की जान बचाने के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी। उन्होंने कहा कि इस संक्रमण से लड़ने के लिए यूनानी चिकित्सकों को एलोपैथिक चिकित्सकों से सहयोग प्राप्त करना चाहिए।

गर्वनमेंट तकमील-उत-तिब कालिज लखनऊ के प्राचार्य प्रोफेसर जमाल अख्तर ने तालाबंदी के उपरांत ओ0पी0डी0 तथा आई0पी0डी0 खोलने तथा मरीजों को देखेने से संबंधित विषयों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण से सुरक्षा के दृष्टिगत चिकित्सकों को टेली मेडीसिन के तरीकों को अपनाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
सी0सी0आर0यू0एम0 के पूर्व निदेशक प्रोफेसर शाकिर जमील ने युवा यूनानी चिकित्सकों से अपील की कि वह पारम्पारिक मेडीसिन पर आश्रित होते हुए इलाज में आधुनिक टेक्नालोजी के प्रयोग पर ध्यान दें। इस अवसर पर जामिया हमदर्द की डाक्टर अजहर जबीं ने बहु-विषयी क्लीनिकल शोध के महत्व पर प्रकाश डालते हुए इलाज के आधुनिक तरीकों के प्रयोग को आवश्यक बताया।

मुम्बई के डा0 खालिद शेख तथा अमुवि के डा0 जमीर अहमद ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किये।
यूनानी मेडीसिन संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर एम0एम0एच0 सिद्दीकी तथा अजमल खाॅ तिब्बिया कालिज के प्राचार्य प्रोफेसर सऊद अली खान ने समापन भाषण प्रस्तुत किया। विभागाध्यक्ष तथा कार्यक्रम सचिव प्रोफेसर शगुफता अलीम ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया जब कि डा0 मोहम्मद मोहसिन ने कार्यक्रम का संचालन किया।

शोक व्यक्त
अलीगढ़ 10 मईः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के भौतिकी विभाग के सेवानिवृत वरिष्ठ शिक्षक डा0 टी0एस0 गिल का गत 7 मई को अमृतसर में निधन हो गया। उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि डा0 गिल के निधन से अमुवि बिरादरी को दुख पहुॅचा है तथा इस दुख की घड़ी में वह उनके परिवारजनों के साथ हैं।

प्रोफेसर मंसूर ने कहा कि डा0 गिल एक सादा परंतु शालीन व्यक्तित्व के मालिक थे तथा वह छात्रों में बेहद लोकप्रिय थे। उन्होंने सदैंव कर्मठता तथा समय पालन का उदाहरण प्रस्तुत किया।

डा0 गिल एक प्रभावी शिक्षक होने के साथ ही स्पोर्टस में भी गहरी दिलचस्पी रखते थे तथा वह दो बार विश्वविद्यालय के एथलेटिक्स क्लब के अध्यक्ष रहे। इसके अतिरिक्त उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन के कार्यो में भी रूचि ली तथा 2000 से 2002 तक एन0आर0एस0सी0 के प्रवोस्ट भी रहे। डा0 गिल के परिवार में पत्नी के अतिरिक्त एक पुत्र तथा एक पुत्री हैं।

वेबिनार 15 को
अलीगढ़ । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के काॅमर्स विभाग के तत्वाधान में 15 मई 2020 को प्रातः साढ़े नौ बजे एक वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है जिसमें डा0 मोहम्मद रिशाद फरीदी (सऊदी अरब), प्रोफेसर सईद मालकी (अमरीका), सुश्री वेरूनिका वजेरी (यू0के0) तथा श्री पाॅल एप्पिंग (यू0ए0ई0) “कोविड-19 के उपरांत घटते जा रहे अवसर“ विषय पर संवाद प्रस्तुत करेंगे।

काॅमर्स विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर नवाब अली खान ने बताया कि अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर भी वेबिनार में भाग लेंगे तथा वेबिनार में भाग लेने के इच्छुक शिक्षक एवं छात्र https://us02web.zoom.us/webinar/register/WN_OZW5NrLATtmod1dH8TVTTg पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here