एएमयू खबर

0
192
छात्रों को घर भेजने की प्रक्रिया शुरू
अलीगढ़। देशव्यापी तालाबंदी के दौरान भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा छात्रों तथा अन्य लोगों को उनके घरों तक जाने की अनुमति दिये जाने के बाद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ने उत्तर प्रदेश सरकार के सहयोग से छात्रावासों में रहने वाले छात्रों को उनके घरों तक भेजने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है।
अमुवि रजिस्ट्रार श्री अब्दुल हमीद आईपीएस ने ब्रहस्पतिवार को जारी एक महत्वपूर्ण नोटिस में कहा कि 1 मई 2020 से छात्रों को बसों द्वारा उनके घरों तक भेजने का प्रबन्ध किया गया है। उन्होंने कहा कि यह बसें प्रोक्टर आफिस पर उपलब्ध रहेंगी।
नोटिस में छात्रों को सुझाव दिया गया है कि वह इस सुविधा का लाभ उठायें क्योंकि मई और जून 2020 में कोई क्लास, परीक्षा या कोई प्रवेश परीक्षा नहीं होने वाली है। उन्होंने कहा कि सभी छात्रों को सकुशल उनके घरों तक भेजना महत्वपूर्ण है क्योंकि अलीगढ़ जनपद में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं तथा छात्रावासों में कोविड-19 के सक्रंमण का भी डर है।
श्री हमीद ने आगे कह कि यूपी सरकार द्वारा किये गये बन्दोबस्त के अनुसार छात्रों को भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सबसे पहले उत्तर प्रदेश के छात्रों के लिये बसों का बन्दोबस्त किया गया है। और इसके बाद बिहार, जम्मू कश्मीर, झारखण्ड आदि राज्यों के लिये बन्दोबस्त किया जाएगा।
यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार ने बल देते हुए कहा कि छात्रों को इस सुविधा का लाभ उठाना चाहिए। क्योंकि आगे यह सुविधा का मिलना निश्चित नहीं है। उन्होंने छात्रों को सुझाव दिया है कि वह अन्य किसी स्पष्टीकरण के लिये अपने प्रवोस्ट, डीएसडब्लू अथवा प्रोक्टर से सम्पर्क कर सकते हैं।
मास्क और दस्ताने दान किये
अलीगढ़ । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहर लाल नेहरू मेडीकल अस्पताल को आज 2400 मास्क और दस्ताने तथा पीपीई किट के लिये 1 लाख रूपये का दान दो विभिन्न दानकर्ताओं ने दिया है।
2400 मास्क और दस्ताने आज एमके सर्जिकल द्वारा जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज के मेडीकल सुप्रिंटेंडेंट प्रोफेसर हारिस एम खान को दान में प्रस्तुत किये गये।
इसके अतिरिक्त पीपीई किट के लिये 1 लाख रूपये का चेक कोरदोबा पब्लिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड के श्री सईदुल इस्लाम शेरवानी द्वारा जेएन मेडीकल कालिज के प्रिन्सिपल एवं सीएमएस प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी को दिया गया।
इस अवसर पर प्रो. हारिस एम खान, मेयर श्री एम फुरकान तथा ट्रामा सेंटर के केयरटेकर श्री सईद उर रहमान भी उपस्थित थे।
प्रोफेसर सिद्दीकी तथा प्रोफेसर खान ने दोनों दानदाताओं का कोविड-19 की महामारी के समय में इस महान कार्य के लिये उनका धन्यवाद किया।
अलीगढ़ 30 अप्रेलः प्रोफेसर वलीद अहमद अंसारी को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग का 1 मई 2020 से 8 अगस्त 2021 तक के लिये अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
पांच दिवसीय ऑनलाइन लेक्चर
अलीगढ़। देश व्यापी तालाबंदी के समय आनलाइन शैक्षिक कार्य को बढ़ावा देते हुए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा शोध छात्रों तथा शिक्षकों के लिये ‘‘शिक्षा में अनुसंधान विषय पर एक 5 दिवसीय आनलाइन लेक्चर सीरीज़ का आयोजन किया गया।
पहला लेक्चर जामिया मिल्लिया इस्लामियां के प्रो. आरआर हुसैन ने दिया जिसमें उन्होंने अनुसंधान में आईसीटी के संसाधनों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने रिसर्च में प्रयोग किये जाने वाले साफ्टवेयर मेंडली, डीप डाइव, गूगल स्कालर, कोलविज़, आदि का विस्तारपूर्वक उल्लेख किया तथा साहित्यिक चोरी के टूल ग्रामरली तथा टर्निटिन के विषय में भी बताया। इससे पूर्व शिक्षा विभाग की अध्यक्ष प्रोफेसर नसरीन ने लेक्चर सीरीज़ के बारे में बताया। एक अन्य व्याख्यान में प्रोफेसर हुसैन ने नये वीजुअल मैथड पर प्रकाश डाला।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के शिक्षा विभाग की डा. आकांक्षा सिंह ने फैनोमेनोलोजिकल रिसर्च मैथड पर विस्तारपूर्वक चर्चा की। उन्होंने एक अन्य व्याख्यान में इथनो ग्राफिक रिसर्च के विभिन्न आयामों पर प्रकाश डाला।
गढ़वाल यूनिवर्सिटी की प्रो. सीमा धवन ने केस स्टडी पर व्याख्यान देते हुए कहा कि कैस स्टडी में लोगों के मध्य रह कर उनके अनुभवों को समझा जाता है। इस व्याख्यान में एएमयू के साथ साथ गढ़वाल यूनिवर्सिटी के छात्र व छात्राओं ने भी भाग लिया।
अंत में प्रो. नसरीन ने सभी विषय विशेषज्ञों तथा प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here