एएमयू: जांच में आयेगी तेजी, 30 लाख की खरीदी मशीन

0
254
अलीगढ़। नोवेल कोरोना वायरस की महामारी पर प्रभावी रूप से नियंत्रण के लिए अमुवि के जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज ने 30 लाख रूपये की लागत से एक रीयल टाइम आर0टी0-पी0सी0आर0 थर्मो फिशर मशीन खरीदी है। इस मशीन की स्थापना से मेडीकल कालिज में कोरोना वायरस की जाॅच में तेजी आयेगी और अधिक टेस्ट हो सकेंगे।
अमुवि कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने आज जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज के प्रिंसपिल प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी एवं चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर हारिस एम0 खान की उपस्थिति में इस मशीन का उद्घाटन किया। प्रोफेसर मंसूर ने इस अवसर पर कहा कि नई मशीन आने से कोरोना वायरस के विरूद्ध हमारी लड़ाई को बल मिलेगा क्यूॅकि वायरस के फैलाव को रोकने में जाॅच की मुख्य भूमिका है।
प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी ने कहा कि “क्वांट स्टूडियो 5 पी0सी0आर0 मशीन से कम समय में वायरस की पहचान हो सकेगी“।
प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि अब जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज में तीन टेस्टिंग मशीने हो गयी हैं और क्षमता को और अधिक बढ़ाने के लिए यूनिवर्सिटी एक आटोमेटिड आर0एन0ए0 एक्सट्रैक्ट मशीन खरीद रही है।
जे0एन0 मेडीकल कालिज इस समय एल-टू कोविड अस्पताल है और उसे एल-3 कोविड अस्पताल में परिवर्तित करने के लिए अमुवि गंभीर प्रयास कर रहा है। प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी के अनुसार जे0एन0 मेडीकल कालिज इसके लिए आवश्यक लगभग सभी औपचारिकताओं पर खरा उतर रहा है क्यों कि यहाॅ पर एक अलग केाविड आप्रेशन थियेटर, कोविड लेबर रूम, 100 बेड और 10 वेंटीलेटर उपलब्ध हैं और अब अमुवि एक अलग डायलेसिस मशीन खरीद रही है।
नोडल आफीसर प्रोफेसर हारिस एम0 खान ने बताया कि जे0एन0एम0सी0 में अलीगढ़, मथुरा, नोएडा, कासगंज, हाथरस, बुलन्दशहर, आगरा, रामपुर और एटा से प्राप्त होने वाले कोरोना वायरस के 7920 नमूनों की अब तक जाॅच हो चुकी है जिसमें 195 नमूनों को कोविड पाॅजिटिव पाया गया है।
प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी के अनुसार जे0एन0 मेडीकल कालिज में कोविड-19 के 6 रोगी पिछले  4 दिनांे में स्वस्थय होने के बाद डिस्चार्ज हो चुके हैं। अब यहाॅ 7 रोगी भर्ती हैं।
कोविड वार्ड में 12 डाक्टरों, 12 नर्सो, 8 अटेंडेंट और 8 सफाई कर्मचारियेां पर आधारित चार टीमें 24 घंटे तत्परता से कार्य कर रही है।
मेडीकल कालिज ने टेलीमेडीसिन टेक्नालोजीयुक्त एक केन्द्रीय कंट्रोल रूम स्थापित किया है ताकि कोविड वार्ड में कंसलटेंट, रेजीडेंट डाक्टरों और नर्सिंग स्टाफ से आसानी से संपर्क स्थापित कर सकें।
डिप्टी मेडीकल सुप्र्रिंटेंडेंट डा0 अब्दुल वारिस के अनुसार फीवर क्लीनिक में हर दिन 35 से 40 मरीजों का उपचार किया जा रहा है।
कंसल्टेशन की सुविधा 
अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज ने सभी स्पेशिलिटीज़ में गैर इमरजेंसी मरीजों के लिए ई-कंसलटेशन की सुविधा प्रारंभ की है। यह सुविधा आम मरीजों के लिए है जो लाॅक डाउन के कारण अस्पताल की सेवाओं का फायदा नहीं उठा पा रहे हैं।
यह निर्णय जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज के प्रिंसपिल एवं सी0एम0एस0 प्रोफेसर शाहिद अली सिद्दीकी की अध्यक्षता में होने वाली कोविड-19 एडमिनिस्ट्रेटिव कमैटी की बैठक में लिया गया। उन्होंने कहा कि हम पहले ही महिला रोग, टी0बी0 एवं स्वांस रोग विभाग तथा रेडियोथेरेपी में टेलीफोन हैल्पलाइन चला रहे हैं।
बैठक में जे.एन.एम.सी. के सभी विभागों के अध्यक्ष, मेडीकल अधीक्षक तथा मेम्बर इंचार्ज टेलीफोन उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here