एएमयू: वेबसाइटों से पढ़ाई होगी आसान

0
157
मैनेजिंग आन लाइन टीचिंग एण्ड रिसर्च“ विषय पर दो दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन 
अलीगढ़। संक्रमण के कारण देश व्यापी तालाबंदी के चलते छात्रों को होने वाले शैक्षणिक नुकसान को दृष्टिगत रखते हुए विश्वभर के उच्च शिक्षण संस्थान आन लाइन शिक्षण एवं अध्ययन की संभावनाओं पर कार्य कर रहे हैं। तथा इंटरनेट पर उपलब्ध शैक्षणिक वेबसाइटों की सहायता से शैक्षणिक तथा परीक्षा की प्रक्रिया को आसान बनाया जा रहा है।
इसी दिशा में एक प्रयास के अंतर्गत अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शिक्षकों को आन लाइन शिक्षण एवं अध्ययन के तरीकों से अवगत कराने के उद्देश्य से सोशल साइंस संकाय के तत्वावधान में इनफिलिबनेट सेंटर अहमदाबाद के सहयोग से “मैनेजिंग आन लाइन टीचिंग एण्ड रिसर्च“ विषय पर एक दो दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें लगभग 285 शिक्षकों ने भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने किया जब कि उद्घाटन भाषण इनफिलिबनेट सेंटर के निदेशक प्रोफेसर जे0पी0 जुरेल ने वेबएक्स की सहायता से अहमदाबाद से प्रस्तुत किया। सोशल साइंस संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर अकबर हुसैन ने अतिथियों का स्वागत किया। देश के विभिन्न भागों से आन लाइन शिक्षण तथा परीक्षा के विशेषज्ञों ने कार्यक्रम के सहभागियों को गूगल क्लास रूम, ओपेन ब्राडकास्टर साफ्टवेयर, रिसर्च टूल्स मैंनडले तथा माइक्रोसाॅफ्ट पाॅवर बी-I सहित विभिन्न आन लाइन प्लेटफार्म आदि के बारे में जानकारी प्रदान की।
इनफिलिबनेट सेंटर अहमदाबाद के सीनियर वैज्ञानिक मनोज कुमार के0 ने ई-रिर्सोसेज़ की सहायता से रिसर्च वर्क को व्यवस्थित करने के बारे में जानकारी दी तथा रिसर्च में सहायक आन लाइन शिक्षण सामग्री की खोज तथा प्रयोग के बारे में बताया। कुमार ने इनफिलिबनेट सेंटर के कार्यो के पर भी प्रकाश डाला।
कार्यक्रम के समन्वयक प्रोफेसर नौशाद अली पीएम ने गूगल क्लास रूम की सहायता से आन लाइन कक्षाओं की व्यवस्था के बारे में बताया तथा सहभागियों को अपने व्यक्तिगत अनुभवों से अवगत कराया। उन्होंने पाॅवर प्वाइंट की मदद से शिक्षकों को एल0एम0एस0 प्लेटफाॅर्म के प्रयोग के बारे में जानारकी दी तथा शिक्षण सामग्री की खोज, उनके प्रयोग, छात्रों को दिये जाने वाले असायनमेंट तथा परीक्षा के तरीकों पर विस्तार से चर्चा की।
मनोविज्ञान विभाग के डा0 शाह मोहम्मद खान ने शिक्षण में सहायक वीडियो सामग्री के प्रयोग तथा ओ0बी0एस0 की सहायता से छात्रों को ऐसे वीडियो तैयार करने के बारे में अपने व्यक्तिगत अनुभव से अवगत कराया।
कार्यक्रम के दूसरे दिन अमुवि कम्पयूटर सेंटर के निदेशक डाक्टर परवेज महमूद खान ने मेंडले ओपिन सोर्स साॅफ्टवेयर की सहायता से शोध कार्य को व्यवस्थित करने के तरीकों पर प्रकाश डाला। दूसरे चरण में माइक्रोसाॅफ्ट ए-जेड क्लाउड, नोएडा की सुश्री प्रांजलि वी0 ब्रह्मा ने माइक्रोसाॅफ्ट पाॅवर बी-I साॅफ्टवेयर के प्रयोग के बारे में बताया।
ज़ायद विश्वविद्यालय दुबई के आई0टी0 लाइब्रेरियन श्री नितेश नारायणन ने साहित्यिक सामग्री के रिव्यू, रेफरेंस मैंनेजमेंट, शैक्षणिक सामग्री के प्रकाशन तथा रिसर्च डेटा के मैंनेजमेंट के विभिन्न तरीकों पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम के अंतिम सत्र में गूगल क्लासरूम की सहायता से सहभागियों का एक टेस्ट लिया गया तथा अंत में उन्होंने अपने विचार भी व्यक्त किये। कार्यक्रम के कन्वीनर तथा सोशल साइंस संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर अकबर हुसैन का संदेश भी पढ़कर सुनाया गया तथा डा0 परवेज महमूद खान एवं डा0 एस0एम0 खान ने सहभागियों को संबोधित किया।
कार्यम्रम के अंत में प्रोफेसर नौशाद अली पी0एम0 ने अतिथियों तथा सहभागियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्हें इस बात की प्रसन्नता है कि अमुवि शिक्षकों ने इस कार्यक्रम में रूचि ली तथा नये शैक्षणिक तरीकों को सीखने पर अपना ध्यान केन्द्रित किया।
अध्यक्ष नियुक्त
अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लाइब्रेरी एण्ड इनफारमेशन साइंस विभाग के डा0 मोहम्मद मासूम रज़ा को इसी विभाग का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उनकी नियुक्ति 3 मई 2020 से अग्रिम तीन वर्षो के लिए की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here