एएमयू: 6 केंद्रों पर 4463 रहे मौजूद

0
257

अलीगढ़ । अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की प्रथम कक्षा की प्रवेश परीक्षा आज 6 परीक्षा केन्द्रों पर संपन्न हुईं। इस प्रवेश परीक्षा में 4463 अभ्यार्थी शामिल हुए।

यह प्रवेश परीक्षा प्रातः 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक आयोजित हुई। एसटीएस स्कूल में बने परीक्षा केन्द्र पर 693, एएमयू सिटी स्कूल 692, एएमयू गल्र्स स्कूल 1181, सैयद हामिद सीनियर सेकेण्ड्री स्कूल ब्वायज 724, सीनियर सेकेण्ड्री स्कूल गल्र्स 569 तथा एएमयू एबीके हाई स्कूल में बने परीक्षा केन्द्र पर 604 अभ्यार्थी शामिल हुए। इस प्रवेश परीक्षा में 4829 परीक्षार्थियों ने आवेदन किया था। 92 प्रतिशत अभ्यार्थी इस प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए।
एएमयू परीक्षा कंट्रोलर श्री मुजीबउल्लाह जुबैरी ने बताया कि परीक्षा को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिये समस्त परीक्षा केन्द्रों पर व्यापक प्रबन्ध किये गये थे। परीक्षा केन्द्रों पर सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई थी और अभ्यार्थियों के हाथों पर सेनेटाइजर लगाकर उनको परीक्षा कक्ष में प्रवेश कराया गया। परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यार्थियों को पानी की बोतल, बिस्किट और पैन्सिल भी उपलब्ध कराई गई।
स्कूल शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो. असफर अली खान ने सभी परीक्षा केन्द्रों का दौरा किया तथा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने परीक्षा केन्द्रों पर मौजूद अभ्यार्थियों के अभिभावकों से बात की। उन्होंने बताया कि परीक्षा केन्द्रों पर शिक्षकों को आब्र्जवर के रूप में तैनात किया गया था।
कोरोना रोकने में एएमयू आया आगे
अलीगढ़। कोरोना वायरस के सम्बन्ध में ऐहतियाती कदम उठाते हुए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने अपने ऐसे सभी छात्रों, शोध छात्रों और शिक्षकों से जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कालिज अस्पताल के प्रिन्सिपल एवं सीएमएस से तत्काल तौर पर सम्पर्क करने और अपनी स्क्रीनिंग कराने के लिये कहा है जिन्होंने हाल ही में अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनारों, कार्यक्रमों में शामिल होने के लिये बाहरी देशों की यात्रा की है और उन्हें सर दर्द, खांसी, गले में खराश, नज़ला, बुखार या सांस लेने में कोई तकलीफ है।
इस सम्बन्ध में डीएसडब्लू प्रोफेसर मुजाहिद बेग ने समस्त संकायों के डीन, कालिजों, स्कूलों के प्रिन्सिपल और सभी हालों के प्रोवोस्टों को भेजे पत्र में कहा है कि ऐसे व्यक्ति अपने नामों की सूचना उन्हें भी उपलब्ध करा दें ताकि विश्वविद्यालय और अलीगढ़ जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिये की गई तैयारियों में सहयोग हो सके। प्रोफेसर बेग ने इसके साथ यह भी कहा है कि एएमयू में अध्ययनरत विदेशी छात्रों जिन्होंने गत दो माह के भीतर अपने देशों की यात्रा की है या उनके परिजन उनसे मिलने अलीगढ़ आए हैं, वह भी मेडीकल कालिज के प्रिन्सिपल एवं सीएमएस से सम्पर्क करें और अपनी स्क्रीनिंग करायें।
प्रोफेसर बेग ने धर्मशास्त्र संकाय के अधिष्ठाता को भी कोरोना वायरस के संबंध में मस्जिदों में भी ऐहतियाती कदम उठाने के लिए एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि मस्जिदों में नमाज अदा करने वाले ऐसे नमाजी जिनमें खांसी, बुखार, नजला, जुखाम और सांस लेने में तकलीफ के लक्षण हैं उन्हें मशवरा दिया जाए कि वह जमात के साथ नमाज अदा करने की बजाए अपने आवास पर ही नमाज़ अदा करें। डीएसडब्लू ने अपने पत्र में यह भी कहा है कि नमाज के दौरान मस्जिदों में नमाजी सफों के बीच एक सफ खाली छोड़ कर खड़े हों ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here