किसानों पर कुदरत का कहर, सात लीले

0
528

राजीव शर्मा। चार साल से फसल का मूल्य नहीं मिला। इस वर्ष कुदरत ने भी किसान पर ज़ुल्म कर डाला। बेमौसम बरसात और ओलावृष्टि से उत्तर भारत की अधिक तर फसल नष्ट हो गई और बिजली और दीवार गिरने से 7 लोग काल के गाल में समा गए। 

बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से उत्तर प्रदेश, हरियाणा में गेहूं, मटर, आलू और तिलहन की लाखों हेक्टेयर फसल हो गई हैं। टमाटर व अन्य फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। यह कहर पिछले कई दिनों से बरप रहा था। शुक्रवार को कुदरत ने कहर ही बरपा दिया। अवध में तीन सहित प्रदेश में बिजली व दीवार गिरने से 7 लोगों की मौत हो गई।

शुक्रवार को भी बारिश ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया। उत्तर प्रदेश के हाथरस, बहिराईच, सीतापुर, रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर में बरसात हुई और ओले पड़े। सुल्तानपुर में तेज बारिश में फंसने और दीवार गिरने से दो युवकों की मौत हो गई। वहीं, लखनऊ के माल इलाके में बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। हरदोई में दीवार गिरने से दंपती की जान चली गई। शहजानपुर में बिजली गिरने से किशोर सहित दो की मौत हो गई। इटावा व मथुरा में भी एक-एक मौत की खबर है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here