कोरोना की भेंट चढ़े पूर्व क्रिकेटर और यूपी में मंत्री चेतन चौहान

0
719

पूर्व क्रिकेटर, अमरोहा से पूर्व सांसद और यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान की मौत हो गई।  चौहान को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। कोरोना पॉजिटिव के कारण लम्बे समय से संजय गांधी पीजीआइ में भर्ती रहे चौहान की किडनी ने काम करना बंद कर दिया था। उनको लखनऊ से गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में शिफ्ट किया गया था जहां पर उनको लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया । 11 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनको संजय गांधी पीजीआई में एडमिट कराया गया था। इसके बाद उन्हेंं किडनी और ब्लड प्रेशर की समस्या शुरू हो गईं। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान की हालत गंभीर है। उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल में चौहान के पास सैनिक कल्याण, होमगार्ड, पीआरडी और नागरिक सुरक्षा मंत्रालय हैं। अमरोहा से चेतन चौहान भाजपा के सांसद भी रहे हैं। चेतन चौहान भारतीय जनता पार्टी की राजनीति में लंबे समय से सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। चेतन चौहान भारतीय जनता पार्टी से लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं। 1991 और 1998 के चुनाव में वह भाजपा के टिकट अमरोहा से सांसद बने थे73 साल के चेतन चौहान ने भारत के लिए 40 टेस्ट मैच और 7 वनडे मैच खेले थे। पिछले साल तक वो यूपी के स्पोर्ट्स मिनिस्टर थे, लेकिन बाद में उन्हें दूसरा मंत्रालय दे दिया गया था। वो भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं और दो बार लोकसभा एमपी भी रह चुके हैं।
चेतन चौहन ने भारत के लिए टेस्ट डेब्यू साल 1969 में न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था। अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 31.57 की औसत से 2084 रन बनाए थे। टेस्ट क्रिेकेट में उनके नाम पर कोई शतक नहीं है जबकि उन्होंने 16 अर्धशतक लगाए थे। इसके अलावा भारत के लिए 7 वनडे मैचों में उन्होंने कुल 153 रन बनाए थे।

साल 1980 में चेतन चौहान मे एडिलेड क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन किया। वहां उन्होंने तीन साल तक कप्तान और कोच की भूमिका अदा की। चेतन चैहान टीम के इंडिया के मैनेजर भी रह चुके थे। साल 2001 में भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान वह टीम इंडिया के मैनेजर थे, जिसमें टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को कोलकाता में हुए ऐतिहासिक टेस्ट में मात दी थी। इसके बाद उन्होंने 2007-08 में भी मैनेजमेंट में रहकर टीम इंडिया के लिए अहम भूमिका निभाई थी।
साल 1980 में चेतन चौहान मे एडिलेड क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन किया। वहां उन्होंने तीन साल तक कप्तान और कोच की भूमिका अदा की। चेतन चैहान टीम के इंडिया के मैनेजर भी रह चुके थे। साल 2001 में भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान वह टीम इंडिया के मैनेजर थे, जिसमें टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को कोलकाता में हुए ऐतिहासिक टेस्ट में मात दी थी। इसके बाद उन्होंने 2007-08 में भी मैनेजमेंट में रहकर टीम इंडिया के लिए अहम भूमिका निभाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here