गर्मी को लेकर चेता प्रशासन

0
159

*ग्रीष्मकाल के दृष्टिगत देहात एवं निकाय क्षेत्रों में खराब नलकूपों एवं हैण्डपम्प को तत्काल दुरूस्त कराने के निर्देश*

*ओवरहैड टैंक का क्लोरीनेशन कराते हुए शुद्ध पेयजल सप्लाई सुनिश्चित की जाए*

*गौवंशों के लिए छायादार टिनशेड, पेयजल एवं चारे के उचित प्रबन्ध किये जाएं*

*आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराया जाए*

*पीएम स्वनिधि योजना के आवेदनों को लमिबत ना रखा जाए*

अलीगढ़ ) जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में पेयजल से सम्बन्धित समस्याओं के निराकरण के सम्बन्ध में बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा कि प्रत्येक नागरिक को मानक के अनुरूप उपलब्ध कराना शासन-प्रशासन की महती जिम्मेदारी है। अधिकारी-कर्मचारी अपनी इस जिम्मेदारी से विमुख नहीं हो सकते। उन्होंने देहात एवं निकाय क्षेत्रों में खराब पडे़ हैण्डपम्प एवं नलकूपों को तत्काल दुरूस्त करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य में लापरवाही क्षम्य न होगी। उन्होंने पेयजल के साथ सिंचाई के संसाधनों, आईजीआरएस पर लम्बित शिकायतों एवं पीएम स्वनिधि योजना की भी समीक्षा की।
जिलाधिकारी ने कहा कि गर्मी का मौसम आरम्भ हो गया है, ऐसे में आवश्यक है कि जल स्रोत किसी भी कारण से अवरूद्ध नहीं होने चाहिए। यदि कहीं ऐसा है तो टीम भावना से कार्य करते हुए उनको तत्काल दुरूस्त कराया जाए। ऐसे हैण्डपम्प जिन्हें रीबोर कराया जाना है, रीबोर कराया जाए। विद्युत विभाग के अधिकारी निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। रात्रि में होने वाले फॉल्ट को दुरूस्त करने के लिए भी टीम को तैयार रखें। उन्होंने सभी एसडीएम, अधिशासी अधिकारी एवं नगर निगम क्षेत्र में महा प्रबन्धक जल को निर्देशित किया कि जल की किल्लत न होने दी जाए। ओवरहैड टैंक, पानी की टंकियों का क्लोरीनेशन कार्य जनसामान्य के संज्ञान में लाते हुए समय रहते पूर्ण करा लिया जाए।
डीएम ने अधिशासी अभियंता सिंचाई द्वारा 72 टेलों तक कराये गये सफाई कार्य को कन्ट्रोल रूम के माध्यम से चैक कराने के साथ ही एसडीएम को भी क्रास चैक करने के निर्देश दिये। उन्होंने अवैध कुलाबे लगाए जाने वाले दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिये। अधिशासी अभियंता नलकूप ने बताया कि जनपद में 652 नलकूप स्थापित हैं, वर्तमान में 12 तकनीकी एवं 02 विद्युत दोष के के कारण बन्द हैं। डीएम ने तत्काल खराब नलकूपों को दुरूस्त कराने के निर्देश दिये। महाप्रबन्धक जल ने बताया कि नगर निगम क्षेत्र में 142 ट्यूबवैल के सापेक्ष 11 रीबोर की सूचना पर डीएम ने मानव शक्ति बढ़ाकर जल्द से जल्द ट्यूबवैल संचालित करने के निर्देश दिये। जीएम जल ने बताया कि 4380 हैण्डपम्प के सापेक्ष 219 हैण्डपम्प खराब हैं, जल्द ही मरम्मत करा दी जाएगी।
डीपीआरओ ने बताया कि ग्राम पंचायत सचिवों द्वारा खराब हैण्डपम्प की लिस्ट तैयार कर मरम्म्त कराई जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सभी 44 ओवर हैड टैंक के क्लोरीनेशन का कार्य जल्द ही करा दिया जाएगा। डीएम ने जनपद की सभी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्थापित अस्थाई एवं स्थायी गौशालाओं में ग्रीष्मकाल के दृष्टिगत गौवंशों के लिए छायादार टिनशेड, पेयजल एवं चारे का उचित प्रबन्ध करने के साथ ही नियमित टीकाकरण कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि अपने स्तर पर पर सिंचाई, पेयजल, जल निगम, विद्युत एवं अग्निशमन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर एक-दूसरे के दूरभाष नम्बर एक्सचेंज कर लें ताकि किसी भी आपात स्थिति में संवादहीनता से बचा जा सके। डीएम ने पीएम स्वनिधि योजना के अन्तर्गत लम्बित प्रकरणों को जल्द से जल्द दूर करने के निर्देश दिये। अतरौली में 51, बेसवां में 12, कॉडियागंज में 42, जलाली में 16, खैर में 09 एवं चण्डौस में 14 आवेदन लम्बित पाए जाने पर उन्होंने असंतोष प्रकट करते हुए जल्द से जल्द प्रकरणों को निस्तारित करने के निर्देश दिये। बैैठक में सीडीओ अंकित खण्डेलवाल, एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल, एडीएम वित्त विधान जायसवाल, सिटी मजिस्ट्रेट विनीत कुमार वर्मा समेत समस्त एसडीएम, महाप्रबन्धक जल, अधिशासी अधिकारी समेत सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here