गुरुवार का दिन बना काल, 85 की मौत, पीएम ने जताया दुःख

0
118

बिहार में गुरुवार का दिन काल बनकर गिरता रहा। बिहार में बज्रपात से  85 से अधिक लोगों की मौत हो गई। काफी संख्या में झुलस गये। इनका उपचार किया जा रहा है। प्राकृतिक अापदा में मरे लोगों के परिजनों के प्रतिर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने शोक व्यक्त किया। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के आश्रित को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। उधर राज्‍यपाल फागू चौहान ने भी शोक प्रकट किया। कहा, यह बेहद दुखदायी खबर है। ईश्वर पीडि़त परिवारों को दुख सहने की क्षमता दें। उधर उत्तर प्रदेश में भी आंधी तूफान और बरसात से 13 लोगों की मौत हुई है।

पूर्व बिहार, उत्तर बिहार, सीमांचल सहित कई जिलों में  काफी तेज बारिश और आंधी-तूफान पर मौसम विभाग ने पहले ही गुरुवार और शुक्रवार के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग द्वारा जारी अलर्ट के अनुसार गुरुवार को अररिया और किशनगंज जिले को रेड जोन में रखा है। पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीवान सारण, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा को ऑरेंज जोन में रखा गया है।

गुरुवार दोपहर को झमाझम बारिश के दौरान बिजली गिरने सेे  भागलपुर में पांच, बांका में चार, जमुई में एक, खगडिय़ा में एक, किशनगंज में एक, अररिया में एक, पूर्णिया में पांच, सुपौल में दो, सहरसा में एक और मधेपुरा में एक व्यक्ति की मौत वज्रपात से हुई है। इन इलाकों में 22 लोगों की मौत हुई।  उत्तर बिहार में 23 लोगों की मौत हो गई, जबकि आठ लोग झुलस गए। मृतकों में पश्चिम चंपारण के दो, पूर्वी चंपारण के छह, मधुबनी के आठ, समस्तीपुर, सीतामढ़ी और दरभंगा के दो -दो और शिवहर के एक हैं। वहीं, झुलसे लोगों में पश्चिम चंपारण के एक, पूर्वी चंपारण के छह और सीतामढ़ी के एक हैं। पश्चिम चंपारण और सीतामढ़ी जिले में रेड अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा गोपालगंज में 13, सीवान में पांच लोगों की भी मौत की खबर है।

पूर्व बिहार में 30.6 मिमी हुई बारिश

बिहार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग में 30.6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। अगले तीन दिनों तक आसमान में बादल छाए रहने की उम्मीद है।  करीब 100 मिलीलीटर बारिश होने का पूर्वानुमान है। गुरुवार का अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 36.8 और 27 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। हालांकि, बारिश के बाद तापमान गिरकर क्रमश: 29 और 26 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।

 

 

रेड जोन में है ये जिले

शुक्रवार को राज्य के लगभग 10 जिले रेड जोन में है। इनमें पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा में भारी से भारी बारिश की स्थिति बन रही है। शुक्रवार को 10 जिलों में रेड अलर्ट के अलावा सिवान, सारण, मुजफ्फरपुर दरभंगा, वैशाली, शिवहर समस्तीपुर, कटिहार, भागलपुर, बांका, मुंगेर, खगड़िया और जमुई के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। यानी इलाकों में गरज-धड़क के साथ कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। इन इलाकों में वज्रपात के भी आसार हैं। मौसम विज्ञान विभाग की ओर से अगले 48 घंटों में मौसम की अनुमानित स्थिति से राज्य सरकार को अवगत करा दिया गया है।

मरने वालों की संख्या

गोपालगंज में 13, पूर्वी चम्पारण 5, सीवान 6, दरभंगा 5, बाॅका 5, भागलपुर 6, खगड़िया 3, मधुबनी 8, पश्चिम चम्पारण 2, समस्तीपुर 1, षिवहर 1, किशनगंज 2, सारण 1, जहानाबाद 2, सीतामढ़ी 1, जमुई 2, नवादा में 8, पूर्णिया 2, सुपौल  2, औरंगाबाद  3, बक्सर 2, मधेपुरा 1 और कैमूर में 2।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में आंधी-तूफान और बिजली गिरने की वजह से हुई मौतों पर संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा, बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों के निधन का दुखद समाचार मिला। राज्य सरकारें तत्परता के साथ राहत कार्यों में जुटी हैं। इस आपदा में जिन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, उनके परिजनों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करता हूं।

राहुल ने भी जताया दुख
वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बृहस्पतिवार को बिहार के कुछ इलाकों में बिजली गिरने से कई लोगों की मौत होने पर दुख जताया और पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रभावित परिवारों की हरसंभव मदद करने को कहा।

उन्होंने ट्वीट किया, बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत की ख़बर सुनकर स्तब्ध हूं। भगवान उनके प्रियजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति दे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मेरी अपील है कि पीड़ित परिवारों की हर संभव मदद करें।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here