पिता जेल में और मां ने अंकित को त्याग दिया

0
182

दस साल के अंकित को पता नहीं वह कहां का रहने वाला है। अंकित सिर्फ इतना जानता है उसके पिता जेल में है और माता ने त्याग दिया है। वह किसी के भरोसे नही बल्कि मेहनत करके खाता है और एक कुत्ते को भी साथ रखता है। करीब एक पखवाड़े पहले भीषण ठंड में एक बंद दुकान के बाहर फुटपाथ पर पतला कंबल ओढ़े दोनों की सोते हुए तस्वीर किसी ने क्लिक की और यह वायरल हो गई। इसके बाद सीएम योगी ने भी संज्ञान लिया।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर मुजफ्फरनगर प्रशासन बच्चे का पता लगाने की कोशिशों में जुट गया। मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव की कोशिशों से पुलिस वालों ने अंकित  पर कई बार काम कर चुका है उसके मालिक के अनुसार जब तक वह काम करता है उसका कुत्ता एक कोने में बैठा रहता है। दुकानदार के अनुसार अंकित स्वाभिमानी है। वह मुफ्त में कुछ नहीं लेता है। अपने कुत्ते के लिए दूध भी मुफ्त में नहीं लेता है।
मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि अब अंकित मुजफ्फरनगर पुलिस की देखरेख में है। हम उसके परिवार वालों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं और उसकी तस्वीरें आसपास के जिलों के विभिन्न पुलिस थानों में भेजी गई हैं। हमने जिला महिला और बाल कल्याण विभाग को भी सूचित किया है।
शहर कोतवाली के एसएचओ अनिल कापरवान के अनुसार फिलहाल अंकित शीला देवी नामक एक महिला के साथ रह रहा है। अंकित महिला से पहले से परिचित है और उसे बाई कहता है। जब तक अंकित के परिवार वालों के बारे में ठीक-ठीक पता नहीं चल जाता वह यहीं रहेगा। उसका एक निजी स्कूल में नाम लिखवा दिया गया है। स्थानीय पुलिस के अनुरोध पर स्कूल प्रबंधन उसे मुफ्त शिक्षा देने पर भी सहमत हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here