बारिश ने फेरा किसानों के अरमानों पर पानी

0
146

रुद्रप्रयाग में एक महिला बही

राजीव शर्मा। चार साल से इस बार नई लहर का इतजार कर रहे किसानों के अरमान पर कुदरत ने कहर बरपा दिया। उत्तर भारत के कई राज्यो में शनिवार को भारी बरसात के साथ ओलावृष्टि हुई। इससे किसानों के खेत में खड़ी फसल बर्वाद हो गई है। देश के कई राज्यों में बर्फबारी भी हुई।

मौसम का मिजाज शनिवार की सुबह से बिगड़ता रहा। शाम शाम बादल मंडराते रहे। इसी से पता चला कि अब बरसात होगी। उत्तराखंड के देहरादून, गढ़वाल और कुमाऊं मंडल में भारी बारिश हुई। रुद्रप्रयाग के अग्यमुनि इलाके में एक महिला गदेरे में उफान में बह गई।

किसानों का भारी नुकसान

किसानों को शनिवार की शाम हुई बारिश से भारी नुकसान हुआ है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ज्यादातर आलू की खेती होती है। प्रदेश में आलू किसान को चार साल से उसकी लागत भी नहीं निकली है। इस बार आलू कम हुआ है। स्थित यह कोल्ड स्टोरेज भी खाली है। किसानों को लुभाने के लिए रेट भी ठीक है। शनिवार की देर शाम हुई बरसात से आलू भीग गया। इससे आलू की गुणवत्ता पर प्रश्न चिन्ह लग गया है। गेंहू और लाहा की फसल भी खेतों में बिछ गई है। हिमाचलके शिमला, सोलन, कांगड़ा में दोपहर अंधेरे में तडील हो गई। हरियाणा के करीब 20 गांवों में ओलावृष्टि हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here