भाजपा की मानसिकता व्यापारी जैसी: राजेश सैनी

0
307

अलीगढ़। भाजपा की सरकारों ने साबित कर दिया है कि उनकी मानसिकता एक व्यापारी के समान हैं। कोरोनावायरस जैसी महामारी के दौर में सरकार उत्तर प्रदेश राजस्व का आंकलन कर रही है।

यह बातें समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव राजेश सैनी ने कही। उन्होंने कहा कि मंदिरों से पहले शराब की दुकानों को खोलना कौन सा धर्म कहलाया जाएगा। हिंदू धर्म की वकालत करने वाले आज सत्ता में बैठे वही लोग मंदिर से पहले शराब की बिक्री की जरूरत महसूस कर रहे हैं। उन सभी लोगों को देखना और समझना चाहिए जिन्होंने हिंदुत्व के नाम पर भाजपा को वोट किया है ।  जब देश व प्रदेश में बीमारी के चलते लोग भुखमरी की कगार पर पहुंच चुके हैं ऐसे में शराब की दुकानों का खुलना देश और प्रदेश की तबाही को खुला निमंत्रण देने के समान है। सैनी ने कहा कि तमाम शहरों से समाचार प्राप्त हो रहे हैं कि शराब की बिक्री के दौरान किस तरीके से सोशल डिस्टेंसिंग का खुला मजाक उड़ा है निश्चित तौर पर शराब की बिक्री से सैकड़ों की संख्या में कोरोनावायरस के रोगी सामने आएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here