मध्यप्रदेश: मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया का बोलबाला

0
145

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के  कैबिनेट विस्तार में ज्योति रादित्य सिंधिया का बोलबाला रहा। उनके खेमे के 9 विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह मिली। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने वाले कुल 12 विधायकों को गुरुवार के शपथ ग्रहण समारोह में मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है।

भाजपा के दोबारा सत्ता में काबिज होने का पूरा श्रेय ज्योति रादित्य को गया है। शिवराज कैबिनेट विस्तार में गुरुवार को कुल 28 नए विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली है। शिवराज कैबिनेट में मुख्यमंत्री समेत छह मंत्री पहले से शामिल हैं। इस तरह से मध्य प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री समेत 34 मंत्रियों का बनना तय है। शिवराज कैबिनेट में पहले से जो मंत्री शामिल हैं उनमें गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, कृषि मंत्री कमल पटेल, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, आदिमजाति कल्याण मंत्री मीना सिंह मांडवे शामिल हैं। इनमें से जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट भी कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। तुलसीराम सिलावट भी ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के हैं।

शिवराज मंत्रीमंडल में सिंधिया खेमे के जिन नौ विधायकों ने शपथ ली है, उनके नाम हैं महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, सुरेश धाकड़, ओपीएस भदौरिया, गिर्राज दंडोतिया, राज्यवर्धन सिंह, बृजेंद्र सिंह यादव और प्रभुराम चौधरी। इनके अलावा कांग्रेस से भाजपा में आने वाले बिसाहूलाल सिंह, हरदीप सिंह डंग और एंदल सिंह कंसाना ने भी मंत्री पद की शपथ ली है, लेकिन इन्हें सिंधिया समर्थक नहीं माना जाता है। तीनों कांग्रेस विधायक सिंधिया से पहले ही पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके थे।

गुरुवार को हुए मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों को खास तवज्जो दी गई। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने वाले 12 विधायकों को मंत्रीमंडल में जगह दी गई है। इनमें महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, सुरेश धाकड़, ओपीएस भदौरिया, गिर्राज दंडोतिया, राज्यवर्धन सिंह, बृजेंद्र सिंह यादव, प्रभुराम चौधरी, बिसाहूलाल सिंह, हरदीप सिंह डंग और एंदल सिंह कंसाना शामिल हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here