यूपी: दिमागी बुखार से बच्चे की मौत, कोरोना के खौफ से डॉक्टर ने छुआ तक नहीं

0
257

एक बाप बच्चे को इलाज के लिए डॉक्टरों के चक्कर लगाता रहा। डॉक्टर और लोगों ने मानवता को तार तार कर दिया। कुछ समय बाद बच्चे की मौत हो गई। मां बाप बच्चे को सड़क पर उसके शव को लेकर बिलखते रहे।

यह मामला उत्तर प्रदेश के कन्नौज का है। बच्चे दिमागी बुखार से पीड़ित था। दिमागी बुखार से बच्चे की जिला अस्पताल में मौत हो गई। परिजनों ने डाॅक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा काटा। बताया कोरोना के खौफ के चलते घंटों डॉक्टरों ने बच्चे को छुआ तक नहीं। समय से इलाज न मिलने से मासूम की सांसें थम गई। सीएमएस ने शव वाहन से परिजनों समेत बच्चे को घर भिजवाया। सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव मिश्रीपुर निवासी प्रेम चंद्र के चार वर्षीय पुत्र अनुज को कई दिनों से बुखार था। रविवार को बुखार के चलते हालत बिगड़ी तो परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। काफी देर तक वह बच्चे को लेकर इधर उधर भटकता रहा। इसके बाद इमरजेंसी में लेकर पहुंचा।बच्चे की हालत खराब होने से डाॅ. वीके शुक्ला ने जांच करने के बाद बच्चों के डाॅक्टर पीएम यादव के पास भेजा। काफी देर तक इधर उधर भटकने से बच्चे की मौत हो गई। इस पर परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा काटना शुरू कर दिया। प्रेमचंद्र ने जिला अस्पताल के डाॅक्टरों पर आरोप लगाया कि कोरोना के चलते उसके बच्चे को इलाज नहीं दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here