सोशल डिस्टनसिंग का पालन कर पाक रमजान माह की करें शुरूआत

0
176

अपने घरों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए करें रोजा इफ्तार – मण्डलायुक्त

पवित्र रमजान का महीना शुरू होने वाला है। 24 या 25 अप्रैल से पवित्र रमजान का महीना शुरू होकर 24 मई तक चलेगा। मुस्लिम सम्प्रदाय के लोग चन्द्र दर्शन के अनुसार अपने पवित्र रमजान माह की शुरूआत करते हैं। अनेक मुस्लिम धर्मगुरूओं द्वारा रमजान के इस पवित्र महीनें में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देश एवं जारी एडवाईजरी का पालन करते हुये सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अपने-अपने घरों में रहकर रोजा-ए-शहरी-ए-इफ्तार तथा नमाज अदा किये जाने की अपील की जा रही है।

मण्डलायुक्त जी0एस0 प्रियदर्शी ने मण्डल के सभी मुस्लिम धर्मगुरूओं एवं मुस्लिम संप्रदाय के लोगों से अपील की कि वे इस पवित्र माह में रोज़ों के दौरान समाज, मण्डल, प्रदेश राष्ट्रहित में कोरोना-19 वायरस से सभी की सुरक्षा के लिए प्रातः काल सहरी तथा सायंकाल इफ्तार अपने अपने घरों पर ही करें। सामूहिक रूप से रोजा इफ्तार बिल्कुल न करें। इसके साथ ही नमाज भी घर पर ही अदा करें।

मण्डलायुक्त ने बताया कि इस समय पूरा देश लॉक डाउन की स्थिति से गुज़र रहा है और हर प्रदेश की सरकार, शासन एवं प्रशासन अपने लोगों को इस संक्रमण से बचाने में लगा है, क्योंकि कोरोन-19 ऐसा वायरस है जो एक दूसरे के संपर्क से फैलता है। इसलिये मस्ज़िदों में नमाज़ के दौरान हुयी भीड़ से संक्रमण फैलने का पूरा खतरा बना हुआ है। एक संक्रमित व्यक्ति हजारों व्यक्तियों को संक्रमित कर सकता है। परिवार का एक ही सदस्य संक्रमित होने पर पूरे परिवार को कोरोना वायरस का संक्रमण दे सकता है। ऐसी स्थिति में यह अत्यंत आवश्यक है कि हम अपने घरों में ही रह कर पाॅचों वक्त की नमाज़ अदा करने के साथ सायंकाल परिवार के सदस्यों के साथ ही रोज़ा इफ्तार करें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा जिला प्रशासन का हर तरह से सहयोग करें। लोगों को घरों में रहने के लिए कहें। कोविड-19 वायरस जाति, धर्म, मजहब देखकर वार नहीं करता है, उसे तो सिर्फ मानव शरीर चाहिये। उन्होंने धर्मगुरूओं से अपील की है कि हर अजान के बाद लोगों से घरों में रहने, गलियों में न निकलने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने, थोडे-थोडे अन्तराल पर हाथों को साबुन से धोते रहने, साफ-सफाई बनाये रखनें आदि की अपील अवश्य करें, जिससे लोग अधिक से अधिक जागरूक हों और कोविड-19 वायरस से अपने को बचा सकें। उन्होंने कहा कि हम, आप, हमारा परिवार तथा हमारे समाज के लोग सभी सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें, इसी के चलते शासन द्वारा लॉक डाउन किया गया है। पवित्र रमजान माह त्याग एवं आपसी भाईचारे का महीना है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए लोगों से अपील है कि वह गलियों में न निकलें, लोगों को जागरूक करें। किसी भी प्रकार की सभा या जलूस न निकालें। आप सभी से अपील है कि स्वयं, परिवार, मोहल्ला, जनपद, प्रदेश व देशवासियों की बेहतरी, तन्दुरूस्ती और सेहत को देखते हुए लॉक डाउन व सोशल डिस्टेसिंग का पालन अवश्य करेेे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here