हिंसक झड़प में शहीद गुरविंदर की नवम्बर में थी शादी

0
1084

गलवां घाटी में लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों से हिंसक झड़प में पंजाब के संगरूर जिला निवासी नायब सिपाही गुरविंदर सिंह की करीब तीन माह पहले ही सगाई हुई थी । नवंबर में शादी होनी थी। शहीद जवान के पिता का नाम लाख सिंह है और माता का नाम चरणजीत कौर है।  सुनाम के गांव तोलावाल निवासी वीर जवान के शहीद होने की खबर परिजनों तक पहुंच गई है। वहीं खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया है। गांव में भी शोक की लहर दौड़ गई। शहीद जवान के घर शोक व्यक्त करने वालों का तांता लगा हुआ है।

मिली जानकारी के अनुसार, भारतीय सेना के प्रतिनिधियों की ओर से बुधवार को सुबह साढे़ छ: बजे गुरविंदर के शहीद होने की सूचना दी गई। वीरवार शाम तक शहीद गुरविंदर का पार्थिव शरीर गांव में पहुंचेगा। दो भाई व एक बहन में सबसे छोटे गुरविंदर सिंह की करीब तीन माह पहले ही सगाई हुई थी और नवंबर माह में शादी होनी थी।
गुरविंदर दो साल पहले ही सेना में भर्ती हुआ था और इन दिनों लद्दाख में बॉर्डर पर तैनात था। पिता लाभ सिंह ने बताया कि नजदीकी गांव उभावाल में उसकी सगाई बड़े चाव से की गई थी और नवंबर में गुरविंदर के ड्यूटी से लौटने पर शादी भी धूमधाम से करनी थी। लेकिन सभी अरमान धरे के धरे रह गए। सुनाम के नायब तहसीलदार अमित कुमार शहीद के घर पहुंचे और परिवार के प्रति सांत्वना जताई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here